बौद्ध स्तूप, ग्यारसपुर  

ग्यारसपुर, विदिशा के उत्तर की ओर पहाड़ी पर अनगढ़े पत्थरों के कुछ ध्वस्त हो रहे चबूतरे दिखते हैं, जो स्तूप के साक्ष्य माने जाते हैं।

  • इन स्तूपों को खजाने की खोज में लोगों ने खोल दिया है। यहाँ बुद्ध की बैठी हुई अवस्था में एक प्रतिमा मिली है।
  • वहाँ से दो मील की दूरी पर पश्चिम की ओर पहाड़ी के पत्थर को काटकर बुद्ध की दो अन्य प्रतिमाएँ भी उत्कीर्ण की गई हैं।[1]
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ग्यारसपुर (हिंदी) ignca.gov.in। अभिगमन तिथि: 18 जुलाई, 2020।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बौद्ध_स्तूप,_ग्यारसपुर&oldid=648052" से लिया गया
<