वज्र मठ, ग्यारसपुर  

वज्र मठ अथवा बाजरा मठ ग्यारसपुर, विदिशा में स्थित है। यह एक विरल मंदिर है, जिसमें एक ही पंक्ति की तीन मूर्तियाँ स्थापित की गई है।

  • वज्र मठ वास्तव में ब्राह्मण धर्म से संबद्ध था, जिसमें हिंदुओं के तीनों मुख्य आराध्य त्रिदेव के रूप में रखे गये थे।
  • मध्य स्थित मूर्ति सूर्य की थी, जो विष्णु के समतुल्य माने जाते हैं। यह दोनों तरफ से ब्रह्मा तथा शिव की मूर्तियों से घिरी थी।
  • दरवाज़े और ताखों पर भी देवी-देवताओं की प्रतिमा उत्कीर्ण है।
  • बाद में मुख्य मूर्तियों के स्थान पर जैन मूर्तियाँ स्थापित कर दी गईं।
  • मंदिर शिखर योजना तथा डिज़ाइन के दृष्टिकोण से अन्य मंदिरों से भिन्न है।[1]
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ग्यारसपुर (हिंदी) ignca.gov.in। अभिगमन तिथि: 18 जुलाई, 2020।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वज्र_मठ,_ग्यारसपुर&oldid=648065" से लिया गया
<