गौहर महल भोपाल  

गौहर महल भोपाल
गौहर महल, भोपाल
विवरण गौहर महल मध्य प्रदेश के भोपाल शहर के बड़े तालाब के किनारे स्थित है।
राज्य मध्य प्रदेश
ज़िला भोपाल
निर्माता नवाब कुदसिया बेगम
निर्माण काल 1820 ई.
Map-icon.gif गूगल मानचित्र
संबंधित लेख वास्तुकला, भोपाल, मध्य प्रदेश
अन्य जानकारी गौहर महल की आंतरिक हिस्से में बेगम का निवास था जिसकी खिड़कियों से बड़े तालाब का मनोरम दृश्य दिखाई देता है।
अद्यतन‎ 06:24, 30 जुलाई 2017 (IST)

गौहर महल मध्य प्रदेश के भोपाल शहर के बड़े तालाब के किनारे वी.आई.पी. रोड पर शौक़त महल के पास बड़ी झील के किनारे स्थित है।

  • यह वास्तुकला का ख़ूबसूरत नमूना कुदसिया बेगम के काल का है।
  • इस तिमंजिले भवन का निर्माण भोपाल राज्य की तत्कालीन शासिका नवाब कुदसिया बेगम (सन् 1819-37) ने गौहर महल को 1820 ई. में कराया था।
  • गौहर महल 4.65 एकड़ क्षेत्र में फैला है।
  • कुदसिया बेगम का नाम गौहर भी था इसलिए इस महल को गौहर महल के नाम से जाना जाता है।
  • यह महल भोपाल रियासत का पहला महल है।
  • इस महल की ख़ासियत यह है कि इसकी सजावट भारतीय और इस्लामिक वास्तुकला को मिलाकर की गई है।
  • यह महल हिन्‍दु और मुग़ल कला का अद्भुत संगम है।
  • इस महल में दीवान-ए आम और दीवान-ए-ख़ास हैं।
  • गौहर महल के आंतरिक भाग में नयनाभिराम फ़व्वारे थे जो कालान्तर में नष्ट हो गये हैं। फ़व्वारों की हौज़ अब भी विद्यमान है।
  • महल के ऊपर के हिस्से में एक ऐसा कमरा है जिससे पूरे शहर का नज़ारा दिखता है और इसके दरवाज़ों पर कांच से नक़्क़ाशी की गई है।
  • गौहर महल की दीवारों पर लकड़ी के नक़्क़ाशीदार स्तंभ, वितान और मेहराबें हैं। स्तंभों पर आकृतियां और फूल-पत्तियों का अंकन है।
  • आंतरिक हिस्से में बेगम का निवास था जिसकी खिड़कियों से बड़े तालाब का मनोरम दृश्य दिखाई देता है।
  • भवन की दूसरी मंज़िल पर एक प्रसूतिगृह था, जिसकी दीवारों पर रंगीन चित्र बने थे।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=गौहर_महल_भोपाल&oldid=603490" से लिया गया