मनुआभान की टेकरी  

मनुआभान की टेकरी भोपाल, मध्य प्रदेश में स्थित है। नगर में लालघाटी स्थित गुफा मंदिर के समीप की पहाड़ी को मनुआभान की टेकरी के नाम से जाना जाता है।

  • मनुआभान राजा भोज का दरबारी था, जो विभिन्न प्रकार के हाव-भाव और वेश बदलकर उनका मनोरंजन किया करता था। बाद में उसने अपना यह स्वभाव त्याग दिया और भगवत सिद्धि में लीन हो गया और यह मन्तुगाचार्य कहलाया। उसी के नाम पर टेकरी का नाम पड़ा, जो अपभ्रंश होकर मनुआभान टेकरी कहलाती है।[1]
  • यह टेकरी समुद्र तल से 1300 फीट ऊँची है, जहां से नगर का विहंगम दृश्य दिखलाई देता है।
  • यहाँ पर जैन श्वेताम्बर मंदिर है।
  • लगभग 150 वर्ष पूर्व नवाब कुदसिया बेगम ने यहाँ उत्खनन कार्य करवाया था, जिसमें तीर्थंकर महावीर की प्रतिमा प्राप्त हुई थी। यह प्रतिमा चौक के श्वेताम्बर मंदिर में स्थापित कर दिया गया।
  • टेकरी पर मंदिर में प्रतिमा के पदचिन्ह एवं सात गुफायें हैं, जिनमें संत निवासरत है।
  • कुछ समय पूर्व प्रदेश के महामहिम राज्यपाल द्वारा इस टेकरी को महावीर गिरि नाम दिया गया है।
  • यहाँ पहुँचने हेतु रोड निर्मित हो चुकी है एवं रोप वे लगा दिया गया है।
  • श्वेताम्बर जैन संप्रदाय के लोग इसे तीर्थस्थल के रूप में मानते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. मनुआभान की टेकरी (हिंदी) yogeshmp.blogspot.com। अभिगमन तिथि: 10 जून, 2018।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मनुआभान_की_टेकरी&oldid=630500" से लिया गया