दतिया  

दतिया
दतिया महल
विवरण 'दतिया' बुंदेलखंड, मध्य प्रदेश का एक ऐतिहासिक और लोकप्रिय तीर्थ स्थान है। यहाँ का शक्तिपीठ भारत के श्रेष्ठतम और महत्त्वपूर्ण शक्तिपीठों में एक है।
राज्य मध्य प्रदेश
भौगोलिक स्थिति यह झाँसी से 16 मील की दूरी पर ग्वालियर के निकट उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित है।
प्रसिद्धि ऐतिहासिक और पर्यटन स्थल
कब जाएँ अक्टूबर से मार्च
हवाई अड्डा ग्वालियर
रेलवे स्टेशन दतिया
बस अड्डा झांसी, ग्वालियर, मथुरा, आगरा, ओरछा आदि शहरों से यहाँ के लिए राज्य परिवहन निगम की नियमित बसें चलती रहती हैं।
क्या देखें पीताम्बरा पीठ, सोनगिरि मन्दिर, गोविन्द महल, उनाव बालाजी सूर्य मन्दिर, बडोनी, सिओंधा।
कहाँ ठहरें धर्मशालाएँ, आश्रम और होटल आदि।
संबंधित लेख मध्य प्रदेश, ग्वालियर, बुंदेलखंड
अन्य जानकारी दतिया में राजगढ़ महल और संग्रहालय भी है। पीताम्बरा पीठ के निकट बना राजगढ़ महल राजा शत्रुजीत बुन्देला द्वारा बनवाया गया था। यह महल बुन्देली भवन निर्माण शैली में बना है।

दतिया बुंदेलखंड, मध्य प्रदेश का एक ऐतिहासिक स्थान और लोकप्रिय तीर्थ स्थान है। यह झाँसी से 16 मील (लगभग 25.6 कि.मी.) की दूरी पर ग्वालियर के निकट उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित है। प्राचीन काल में दतिया 'दंतवक्त्र' की राजधानी मानी जाती थी। दतिया का पुराना इलाका चारों ओर से पत्थर की दीवार से घिरा हुआ है, जिसमें बहुत से महल और बगीचे बने हुए हैं। 17वीं शताब्दी में बना 'वीरसिंह महल' उत्तर भारत की सबसे बेहतरीन इमारतों में से एक माना जाता है। यहाँ का शक्तिपीठ भारत के श्रेष्ठतम और महत्त्वपूर्ण शक्तिपीठों में एक है। प्रतिवर्ष यहाँ बड़ी तादाद में श्रद्धालुओं को आवागमन लगा रहता है।

दतिया क़िला

पर्यटन स्थल

दतिया में कई पर्यटन स्थान हैं। दंतवक्त्र का मंदिर यहाँ का मुख्य मंदिर है। इसे लोग 'मड़िया महादेव का मंदिर' कहते हैं। मड़िया महादेव का मंदिर एक पहाड़ी पर अवस्थित है। दतिया का प्राचीन दुर्ग, जो एक ऊँची पहाड़ी पर स्थित है, ओरछा नरेश वीरसिंह देव बुंदेला (17वीं शती) का बनवाया हुआ कहा जाता है। किंवदंती है कि इस दुर्ग को बनवाने में आठ वर्ष, दस मास और छब्बीस दिन का समय लगा था और बत्तीस लाख नब्बे हज़ार नौ सौ अस्सी रुपये व्यय हुए थे। दतिया में बुंदेल राजपूतों की एक शाखा का राज्य आधुनिक समय तक रहा था।

अन्य स्थल

दतिया के अन्य आकर्षणों में हैं-

  1. पीताम्बरा पीठ
  2. धूमावती मन्दिर
  3. सोनगिरि मन्दिर
  4. गोविन्द महल
  5. उनाव बालाजी सूर्य मन्दिर
  6. बडोनी
  7. सिओंधा
  8. भंडेर

इनके अतिरिक्त दतिया में राजगढ़ महल और संग्रहालय भी है। पीताम्बरा पीठ के निकट बना राजगढ़ महल राजा शत्रुजीत बुन्देला द्वारा बनवाया गया था। यह महल बुन्देली भवन निर्माण शैली में बना है। इस स्थान पर ही एक संग्रहालय भी है, जहाँ भौगोलिक और सांस्कृतिक महत्व की अनेक वस्तुओं का संग्रह रखा गया है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=दतिया&oldid=562031" से लिया गया