फाडके स्टूडियो धार  

धार मध्यकालीन नगर है,जो पश्चिमी मध्य प्रदेश राज्य के मालवा क्षेत्र में स्थित है। 1933 में मुम्बई से प्रसिद्ध मूर्तिकार रघुनाथ कृष्ण फाडके धार आए थे। उन्हें धार के महाराजा ने मूर्तियाँ बनाने के लिए बुलवाया था। फाडके ने खांडेराव टेकरी में अपना स्टूडिया स्थापित किया जिसे बाद में 'फाडके स्टूडियो' के नाम से जाना गया। फाडके को उनकी मूर्ति तत्त्व चिंतन के लिए 1961 में पद्मश्री पुरस्‍कार से नवाजा गया। 1971 में उन्हें 'डॉक्टरेट' की उपाधि भी प्रदान की गई। उनके द्वारा बनाई गई मूर्तियों को धार, इंदौर, देवास, उज्जैन और मुम्बई में स्थापित किया गया है। फाडके और उनके अनुयायियों द्वारा बनाई गई अनेक मूर्तियों को फाडके स्टूडियो में रखा गया है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. धार (हिन्दी) यात्रा सलाह। अभिगमन तिथि: 28 अक्टूबर, 2010

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=फाडके_स्टूडियो_धार&oldid=290119" से लिया गया