ख़्याल नृत्य  

ख़्याल नृत्य पश्चिमोत्तर भारत में स्थित राजस्थान राज्य के कई हिंदुस्तानी लोकनृत्य नाटकों में से एक है।

  • ख़्याल नृत्यों का प्रचलन 16वीं सदी से है, जो लोककथाओं एवं पौराणिक कहानियों से अपनी कथावस्तु लेते हैं।
  • केवल पुरुष ही ख़्याल नृत्य को करते हैं। इनकी विशेषता शक्तिशाली शारीरिक गति संचालन है, जिसमें मूकाभिनय एवं गायन शामिल है।
  • ख़्याल के साथ संघात एवं तार वाद्य संगत करते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ख़्याल_नृत्य&oldid=499126" से लिया गया