डप्पू नृत्य  

डप्पू नृत्य आंध्र प्रदेश के तेलंगाना क्षेत्र का पारम्परिक नृत्य है। यह नृत्य दशहरा एवं विवाह आदि के विशेष अवसरों पर तथा मेलों में किया जाता है।

  • इस नृत्य के नर्तक डप्पू वाद्य को कंधे पर रखकर लकड़ी के छोटे-छोटे डंडे से बजाते हैं।
  • नर्तकों द्वारा डप्पू वाद्य लकड़ी के खोल पर बकरी का चमड़ा लगाकर तैयार किया जाता है।
  • कलाकार अलग-अलग घुनों पर पैरों की लयबद्ध पंक्तियों में डप्पू नृत्य प्रस्तुत करते हैं।
  • तेलंगाना क्षेत्र का यह रिवाज है कि किसी भी शोभा-यात्रा या जुलूस में डप्पू नृत्य की प्रथमत: प्रस्तुति की जाती है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=डप्पू_नृत्य&oldid=496971" से लिया गया