थिवाटु  

थिवाटु केरल में भद्रकाली मंदिर में प्रदर्शित किया जाना वाला एक भक्ति भेंट है।

  • प्रदर्शन करने वाले समूह को 'थिवाटुनिस' कहते हैं। इसका विषय आमतौर पर भद्रकाली द्वारा डारिका को मारना रहता है।
  • सबसे पहले भद्रकाली (जिसे 'कलम' कहते हैं) की प्रस्तुती होती हैं, जिसमें पांच विभिन्न प्रकार के रंगों की शक्ति दर्शाई जाती है। तब नर्तकियां भगवती के रूप में विशेष साज-सज्जा के साथ प्रस्तुति देती हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=थिवाटु&oldid=632773" से लिया गया