कुराथियट्टम  

कुराथियट्टम केरल के परम्परागत लोक नृत्यों में से एक है।

  • इस नृत्य को 'कुर्थीअट्टम' कहा जाता है, जिसमें दो कुराथिंस नृत्य के लिए प्रवेश करते हैं।
  • माना जाता है कि ये पात्र भगवान विष्णु और भगवान शिव का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे गीतों के माध्यम से विवाद का मंचन करते हैं और अपने पति के पराक्रम को बताते हैं। एक पक्ष में अनुकूल बात दूसरे के लिए उपहास बनती है, जबकि एक उसका गुणगान करता है और दूसरा व्यंगपूर्ण निंदा करता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कुराथियट्टम&oldid=632782" से लिया गया