अयूप्पम विलाकु  

अयूप्पम विलाकु केरल के परम्परागत लोक नृत्यों में से एक है।

  • नारियल के पत्तों और केले के डंठल व पत्तों से अनेक छोटे मंदिरों का निर्माण किया जाता है। उसके बाद अयप्पन और ववार के बीच इसे गाया जाता है।
  • विभिन्न लय और भक्तिमय गीत की धुन के साथ दो नर्तकियां अयप्पम और ववार का श्रृंगार कर नारियल के लंबे पत्ते और तलवार के साथ इसका प्रदर्शन करती हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अयूप्पम_विलाकु&oldid=632714" से लिया गया