खंडेरी दुर्ग  

खंडेरी का दुर्ग महाराष्ट्र में मुंबई से 20 कि.मी. दक्षिण में एक द्वीप पर स्थित है।

  • खंडेरी दुर्ग सुदृढ़ प्राचीर से घिरा हुआ है।
  • शिवाजी ने दक्षिण में जंजीरा के सिद्दियों और उत्तर में बंबई के अंग्रेज़ों दोनों ने ही इस दुर्ग को अनेकों बार मराठों से छीनने का प्रयास किया, किंतु असफल रहे।
  • अंग्रेज़ों के बढ़ते प्रभाव के साथ ही खंडेरी महत्त्वहीन होकर पतन की ओर अग्रसर को गया।
  • दुर्ग की मूल संरचना समय के आघातों को सहकर आज भी एक रहस्य के साथ सुरक्षित है।
  • आज भी खंडेरी द्वीप एक प्रकाश के रूप में खड़ा है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=खंडेरी_दुर्ग&oldid=253053" से लिया गया