नामोकी बलहारी गजगणिका तारी -मीरां  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
नामोकी बलहारी गजगणिका तारी -मीरां
मीरांबाई
कवि मीरांबाई
जन्म 1498
जन्म स्थान मेरता, राजस्थान
मृत्यु 1547
मुख्य रचनाएँ बरसी का मायरा, गीत गोविंद टीका, राग गोविंद, राग सोरठ के पद
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची
मीरांबाई की रचनाएँ
  • नामोकी बलहारी गजगणिका तारी -मीरां

नामोकी बलहारी गजगणिका तारी॥ध्रु०॥
गणिका तारी अजामेळ उद्धरी। तारी गौतमकी नारी॥1॥
झुटे बेर भिल्लणीके खावे। कुबजा नार उद्धारी॥2॥
मीरा कहे प्रभु गिरिधर नागर। चरणकमल बलिहारी॥3॥

संबंधित लेख


वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=नामोकी_बलहारी_गजगणिका_तारी_-मीरां&oldid=508388" से लिया गया