कुंठपाद  

कुंठपाद (ऐंब्लिपोडा, Amblypoda), खुरवाले स्तनपायी प्राणियों के दो लुप्त वर्गों, पैंटाडोंटा (Pantodonta) तथा डाइनोसेराटा (Dinocerata), का संयुक्त नाम। कुंठपाद स्तनपायी श्रेणी का एक प्राणिवर्ग था जो अब पृथ्वी से लुप्त हो चुका है। इसका अवशेष मात्र ही किन्हीं-किन्हीं देशों में पाया जाता है।

कुंठपाद के पैर में पाँच अँगुलियाँ होती थीं जिनके सिरे पर नाखून नहीं वरन्‌ खुर होते थे। कुंठपाद इयोसिन काल (Eocane Period) में वर्तमान थे और हाथी से कम बड़े नहीं थे। इस श्रेणी के अवशेष इंग्लैंड में पाए जाते हैं, किंतु इसका अच्छा नमूना उत्तरी अमरिका में पाया गया है। यूरोप में इस श्रेणी का प्रतिनिधि कोरिफोडोन (Coryphodon) था।

पहले ऐसा विश्वास किया जाता था कि पैंटोडोंटा (Pantodonta) तथा डाइनोसेराटा (Dinocerata) दोनों ही वर्गों का आपस में घनिष्ठ संबंध था और एक वर्ग दूसरे वर्ग के उत्तरजीवकों से विकसित हुआ था; किंतु बाद में सन्‌ 1940 ई0 के अमरीकी तथा एशियाई अन्वेषणों से यह ज्ञात हुआ कि अनेक समानताओं के बावजूद ये दोनों वर्ग सर्वथा भिन्न हैं और दोनों वर्ग लगभग एक ही समय में पृथक्‌ पृथक्‌ विकसित हुए। दोनों वर्ग स्तनपायी-प्राणी युग की प्राचीन अवस्था के उत्तरजीवक है। दोनों ही वर्गों का विकास विचित्र रूप से, तीव्र गति से हुआ; उनकी आकृति विशाल हो गई और वे समय से पूर्व विकास की चरम सीमा पर पहुँच गए। फलस्वरूप पैंटोडोंटा ऑलिगोसीन (Oligocene) युग में तथा डाइनोसेराटा इयोसिन युग में सर्वथा लुप्त हो गए। अन्य खुरवाले प्राणियों की भाँति दोनों वर्ग साधारणतया अतिप्राचीन कौंडिलार्थ्स (Conodylarths) से ही कदाचित्‌ उत्पन्न हुए थे। इनकी निश्चित वंश परंपरा का ठीक-ठीक पता नहीं हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 3 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 46 |

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कुंठपाद&oldid=633867" से लिया गया