कबर  

कबर उत्तर प्रदेश राज्य के रुहेलखंड में स्थित एक ग्राम है, जो प्राचीन नगर शेरगढ़ का एक भाग है। यह देवरानियाँ स्टेशन[1] से सात मील (लगभग 11.2 कि.मी.) की दूरी पर स्थित है।

  • कबर में पहले हिंदुओं का राज्य था।
  • जलालुद्दीन ख़िलजी ने 1290 ई. में इसे पहली बार हिंदुओं से छीन लिया था।
  • 1540 ई. में शेरशाह सूरी ने यहाँ शेरगढ़ का क़िला बनवाया।
  • कबर के दक्षिण में एक सुंदर ताल है, जिसे 'ख्वास ताल' कहते हैं। इसे शेरशाह के सेनापति ख्वास ख़ाँ मसनद अली ने बनवाया था।
  • कबर से उत्तर-पश्चिम की ओर 'रानीताल' है, जिसे किंवदंती के अनुसार राजा बेन की रानी केतकी ने बनवाया था।
  • राजा बेन या वेणु के विषय में रुहेलखंड में अनेक लोककथाएं प्रचलित हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. उत्तर पूर्व रेलवे
  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 136-137| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कबर&oldid=629220" से लिया गया