Notice: Undefined offset: 0 in /home/bharat/public_html/gitClones/live-development/bootstrapm/Bootstrapmskin.skin.php on line 41
देवल (पीलीभीत) - भारतकोश, ज्ञान का हिन्दी महासागर

देवल (पीलीभीत)  

देवल पीलीभीत ज़िला, उत्तर प्रदेश का एक ऐतिहासिक स्थान है। बीसलपुर से 10 मील की दूरी पर देवल और गढ़गजना के खंडहर मौजूद हैं। कहा जाता है कि देवल में देवल नाम के ऋषि का आश्रम था। यह माना जाता है कि प्राचीन समय में देवल भगवान वराह की पूजा का मुख्य केन्द्र था।

'आहुस्तामृषय: सर्वे देवर्पिर्नारदस्तथा असितो देवलो व्यास: स्वयं चैव व्रवीषि में'
  • पांडवों के पुरोहित धौम्य, देवल ऋषि के भाई थे।
  • देवल के खंडहरों में भगवान वराह की मूर्ति प्राप्त हुई थी, जो देवल के मंदिर में स्थापित है।
  • ऐसा जान पड़ता है कि यह स्थान प्राचीन समय में वराह पूजा का केन्द्र था।
  • देवल ऋषि के मंदिर में 992 ई. का कुटिला लिपि में एक अभिलेख है, जिससे यह सूचित होता है कि एक स्थानीय राजा और उसकी पत्नी लक्ष्मी ने बहुत से कुंज, उद्यान और मंदिर बनवाए और ब्राह्मणों को कई ग्राम दान में दिये, जो निर्मला नदी के जल से सिंचित थे।
  • देवल के पास बहने वाला कटनी नाम का नाला ही इस अभिलेख की निर्मला नदी जान पड़ता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=देवल_(पीलीभीत)&oldid=343753" से लिया गया