स्रुघना  

स्रुघना अथवा श्रुघ्न उत्तर प्रदेश में यमुना नदी के पश्चिम तट पर सतलुज-यमुना विभाजक में जगाधरी के निकट स्थित एक स्थान। गुप्त काल में इस स्थान के बौद्ध भिक्षुओं की विद्वता की ख्याति दूर-दूर तक थी। यहां के 'अभिधर्म' और दर्शन के पंडितों के पास पढ़ने के लिए देश के अनेक भागों से विद्यार्थी आते थे।

स्थिति

श्रुघ्न थानेश्वर के उत्तर-पूर्व में 38 कि.मी. दूरी पर स्थित है। कनिंघम के अनुसार इस स्थान का महत्त्व इस तथ्य से दिखाया जा सकता है कि यह स्थान गंगा के दोआब से मिरात सहारनपुर तथा अम्बाला से होते हुए ऊपर पंजाब की ओर जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवस्थित है एवं यमुना के मार्ग पर नियंत्रण रखता है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 925 |

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=स्रुघना&oldid=611248" से लिया गया