बाँधवगढ़  

रविन्द्र प्रसाद (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 19:42, 8 अगस्त 2012 का अवतरण (''''बाँधवगढ़''' मध्य प्रदेश में स्थित और इतिहास प्रस...' के साथ नया पन्ना बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

बाँधवगढ़ मध्य प्रदेश में स्थित और इतिहास प्रसिद्ध रीवा रियासत का पुराना नाम है। वास्तव में बाँधवगढ़, रीवा से दक्षिण की ओर कुछ दूरी पर स्थित है। यह स्थान अति प्राचीन है, जैसा कि दूसरी-तीसरी शती ई. के 23 अभिलेखों से ज्ञात होता है, जो पुरातत्व विभाग को 1938 में यहाँ से प्राप्त हुए थे। इन अभिलेखों की भाषा प्राकृत और संस्कृत का मिश्रण है। लिपि ब्राह्मी है।

  • यहाँ से मिले अभिलेखों में महाराज 'वैशिष्टीपुत्त भीमसेन' तथा उनके पुत्र और पौत्र का उल्लेख है।
  • अभिलेखों का विषय मथुरा तथा कौशांबी के वणिक्-गणों द्वारा दिए गए दान का वृत्तांत है।
  • एक अभिलेख में व्यायामशाला बनावाए जाने का भी उल्लेख है, जिससे सूचित होता है कि इतने प्राचीन काल में भी जनता के स्वास्थ की ओर संघटित रूप से पार्याप्त ध्यान दिया जाता था।
  • बाँधवगढ़, रीवा की प्राचीन राजधानी होने के कारण काफ़ी प्रख्यात नगर था और रीवा नरेश अपनी राजसी उपाधियों में अपने को बांधवेश कहलाना उचित समझते थे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बाँधवगढ़&oldid=287522" से लिया गया