कड़वाहा  

कड़वाहा मध्य प्रदेश राज्य के ग्वालियर ज़िले में स्थित है। कड़वाहा का प्राचीन नाम कंदबगुहा था। मध्यकाल[1] में बने हुए लगभग बारह मंदिरों के लिए कड़वाहा प्रसिद्ध है। वे मंदिर कड़वाहा ग्राम के चारों ओर एक मील के घेरे में स्थित हैं। इनमें से एक शिवालय आज भी अच्छी अवस्था में है और मध्ययुगीन कला का श्रेष्ठ उदाहरण है।

कड़वाहा में एक प्राचीन विहार के खंडहर प्राप्त हुए हैं और कड़वाहा के एक अभिलेख से ज्ञात होता है कि यह विहार या मठ मत्तमयूर नामक शैव साधुओं के लिए बनवाया गया था। इस संप्रदाय को मध्यकाल में काफ़ी लोकप्रियता प्राप्त थी जैसा कि मध्य प्रदेश में प्राप्त इनके बहुसंख्यक मठों और अभिलेखों से सूचित होता है।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 127-128| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार
  1. 10वीं शती के पश्चात् तथा 16वीं से पूर्व

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कड़वाहा&oldid=629051" से लिया गया