गैलिलियो गैलीली  

गैलिलियो गैलीली
गैलिलियो गैलीली
पूरा नाम गैलिलियो गैलीली
जन्म 15 फ़रवरी, 1564
जन्म भूमि पीसा, इटली
मृत्यु 8 जनवरी, 1642
मृत्यु स्थान इटली
कर्म-क्षेत्र खगोलशास्त्री, भौतिक विज्ञानी और गणितज्ञ
प्रसिद्धि गतिकी, दूरबीन अवलोकन, खगोल विज्ञान, सूर्य केन्द्रीयता
नागरिकता इतालवी
अन्य जानकारी गैलिलियो पहले व्यक्ति थे जिन्होंने खगोलीय प्रेक्षण, चंद्रमा पर क्रेटरों व पहाड़ों की खोज और बृहस्पति के चार उपग्रहों, प्रायः गैलीली उपग्रहों के रूप में जाना जाता है, के लिए दूरबीन का उपयोग किया था।

गैलीलियो गैलिली (अंग्रेज़ी:Galileo Galilei) एक इतालवी खगोलशास्त्री, भौतिक विज्ञानी और गणितज्ञ थे। गैलिलियो पहले व्यक्ति थे जिन्होंने खगोलीय प्रेक्षण, चंद्रमा पर क्रेटरों व पहाड़ों की खोज और बृहस्पति के चार उपग्रहों, प्रायः गैलीली उपग्रहों के रूप में जाना जाता है, के लिए दूरबीन का उपयोग किया था। उन्होंने शुक्र के कलाओं का अवलोकन किया और सौर धब्बों के अध्ययन से सूर्य की घूर्णन गति का पता लगाया। गैलिलियो ने निष्कर्ष निकाला कि अरस्तु का वैश्विक मानचित्र, जो अपने समय में अभी भी व्यापक रूप से विश्वसनीय था, गलत था। इसके बजाय उन्होंने कॉपरनिकस के 'सूर्य केंद्रीय सिद्धांत' का समर्थन किया। यह समर्थन उन्हें कैथोलिक चर्च के साथ संघर्ष में ले आया। उन पर मुकदमा चलाया गया और अपने जीवन के अंतिम आठ साल के लिए उन्हें घर में नजरबंद कर दिया गया। गैलिलियो पीसा में जन्मे थे, उनके पिता विन्सेंजियो गैलीली एक वकील और संगीतकार थे। गैलिलियो को पीसा और पडुआ के विश्वविद्यालयों में शिक्षित किया गया था। सबसे पहले उन्होंने औषधि का अध्ययन किया, लेकिन गणित के लिए इसे छोड़ दिया। अपने कैरियर के प्रारंभिक दिनों में, गैलिलियो ने अरस्तु के दर्शन की आलोचना की, बल्कि फिर खुलेआम उसका उपहास उड़ाया। प्राकृतिक घटना की व्याख्या के मामले में अरस्तु की अपनी स्वयंसिद्ध धारणा थी कि पृथ्वी ब्रह्मांड के केंद्र पर दृढ़ता से खड़ी है। तब अंतरिक्ष में पृथ्वी की गति का कोई ज्ञात भौतिक प्रमाण नहीं था।

जीवन परिचय

यूरोप में एक समय था जब रोम और यूनान की सभ्यताएं अपने पतन की ओर अग्रसर थीं। उसके बाद पूरा महाद्वीप अज्ञानता के अन्धकार में छुप गया। फिर समय ने करवट ली और विज्ञान और तकनीकी प्रगति ने यूरोप को इस अन्धकार से निकालकर रौशनी की ओर मोड़ा। इस रौशनी को पैदा करने में सूर्य की तरह जिस वैज्ञानिक ने योगदान दिया उसे गैलिलियो गैलीली के नाम से जाना जाता है।

जन्म

आधुनिक इटली के पीसा नामक शहर (पीसा की टेढ़ी मीनार के लिए प्रसिद्ध) में 15 फरवरी 1564 को गैलीलियो गैलिली का जन्म हुआ। उनके पिता उन्हें चिकित्सा विज्ञान पढ़ाना चाहते थे, किंतु उनका शौक़ गणित और दर्शन में था। उन्होंने चिकित्सा की डिग्री हासिल किए बिना पीसा छोड़ दिया था।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=गैलिलियो_गैलीली&oldid=617196" से लिया गया