वहिंदा  

वहिंदा अथवा 'हकरा' एक नदी थी, जिसका अब अस्तित्व नहीं है। मुसलमान इतिहास लेखकों ने इसका उल्लेख किया है।

  • मुस्लिम इतिहासकारों के बयान से सूचित होता है कि मुसलमानों के भारत पर आक्रमण के समय बीकानेर, बहावलपुर और सिंध के वर्तमान मरुस्थलीय भागों में उस समय 'हकरा' या 'वहिंदा' नाम की एक विशाल नदी प्रवाहित होती थी, जो कालांतर में शुष्क होकर समाप्त हो गई। तब इस नदी के कारण यह मरुस्थलीय प्रदेश इतना सूखा तथा बंजर नहीं था, जितना कि अब है।[1]
  • इस नदि का प्राचीन नाम अज्ञात है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 838 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वहिंदा&oldid=507298" से लिया गया