बिंबिका नदी  

बिंबिका नदी भारत की पौराणिक नदी थी, जिसका उल्लेख भरहुत (बुंदेलखंड, मध्य प्रदेश) से प्राप्त कुछ अभिलेखों में हुआ है। यह बुंदेलखंड की ही कोई नदी जान पड़ती है।[1]

'दक्षिण्यं नाम बिंबोष्ठिबैंबिकानां कुलव्रतम्।'[2]
  • उपर्युक्त वाक्य में विदिशा का शासक और पुष्यमित्र शुंग का पुत्र अग्निमित्र स्वयं को बैंबकवंशीय बताता है। संभव है कि इसके पूर्वजों का बिंबिका नदी के तटवर्ती प्रदेश से कोई संबंध रहा हो।[3]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 628 |
  2. मालविकाग्निमित्र, अंक 4, 14
  3. रायचौधरी-'पोलिटिकल हिस्ट्री ऑफ़ ऐंशेंट इंडिया'-पृ. 307.

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बिंबिका_नदी&oldid=294153" से लिया गया