रणकपुर  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
रणकपुर जैन मंदिर
Ranakpur Jain Temple

रणकपुर राजस्थान के देसूरी तहसील के निकट पाली ज़िले के सादडी में स्थित है। रणकपुर जोधपुर और उदयपुर के बीच में अरावली पर्वत की घाटियों में स्थित है।

इतिहास

यह स्थान मन्दिरों के लिए प्रसिद्ध है, जो उत्तरी भारत के श्वेताम्बर जैन मन्दिरों में अपना विशिष्ट स्थान रखते हैं। इन मन्दिरों का निर्माण धन्ना नामक सेठ ने किया था, उसे 'धरणाक सेठ' भी कहते हैं। इस सेठ ने महाराणा कुम्भा से इन मन्दिरों के लिए भूमि ख़रीदी थी। यहाँ स्थित प्रमुख मन्दिर को 'रणकपुर का चौमुखा मन्दिर' कहते हैं। इस मन्दिर के चारों ओर द्वार हैं। मन्दिर में प्रथम जैन तीर्थंकर आदिनाथ की मूर्ति स्थापित है। इस मन्दिर के अलावा दो और जैन मन्दिर हैं, जिनमें पार्श्वनाथ और नेमिनाथ की मूर्तियाँ प्रतिष्ठित हैं। एक वैष्णव मन्दिर सूर्यनारायण का भी है। एक धार्मिक मन्दिर चौमुखा त्रलोक्य दीपक है, जिसमें राजस्थान की जैन कला और धार्मिक परम्परा का अपूर्व प्रदर्शन हुआ है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ


संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रणकपुर&oldid=176086" से लिया गया