पालागुम्मि साईनाथ  

पालागुम्मि साईनाथ
पालागुम्मि साईनाथ
पूरा नाम पालागुम्मि साईनाथ
अन्य नाम पी. साईनाथ
जन्म 1957
जन्म भूमि आंध्र प्रदेश, भारत
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि पत्रकार
विद्यालय लोयोला कॉलेज, चैन्नई; जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली
शिक्षा इतिहास में मास्टर्स डिग्री
पुरस्कार-उपाधि 'रेमन मैग्सेसे पुरस्कार' (2007)
अन्य जानकारी 1980 में पालागुम्मी साईनाथ ने पत्रकारिता से अपना जीवन शुरू किया और 'यूनाइटेड न्यूज ऑफ इण्डिया' में लग गए। यहाँ काम करते हुए उन्हें किसी भी पत्रकार को मिलने वाला सबसे बड़ा पुरस्कार दिया गया था।

पालागुम्मि साईनाथ (अंग्रेज़ी: Palagummi Sainath, जन्म- 1957, आंध्र प्रदेश) भारत के जानेमाने पत्रकार हैं। उन्होंने अपनी पत्रकारिता को सामाजिक समस्याओं, ग्रामीण हालातों, ग़रीबी, किसान समस्या और भारत पर वैश्वीकरण के घातक प्रभावों पर केंद्रित किया है। वे स्वयं को ग्रामीण संवाददाता या केवल संवाददाता कहते हैं। वे अंग्रेज़ी समाचार पत्र 'द हिंदू' और 'द वेवसाइट इंडिया' के ग्रामीण मामलों के संपादक हैं। हिंदू में पिछले छ: वर्षों से वे अपने कई महत्वपूर्ण कार्यों पर लिखते रहे हैं। अमर्त्य सेन ने उन्हें अकाल और भुखमरी के विश्व के महानतम विशेषज्ञों में से एक माना है। पी. साईनाथ को उनके कार्यों के लिए वर्ष 2007 का 'रेमन मैग्सेसे पुरस्कार' प्रदान किया गया था।

परिचय

पालागुम्मी साईनाथ का जन्म 1957 में आंध्र प्रदेश में हुआ था। भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति वी. वी. गिरी इनके दादा थे। साईनाथ की पढ़ाई मद्रास (वर्तमान चेन्नई) के लोयोला कॉलेज में हुई थी। वहाँ से वह 'जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय', दिल्ली आए, जहाँ से उन्होंने इतिहास में मास्टर्स डिग्री प्राप्त की। साईनाथ जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में एक्सीक्यूटिव काउन्सिल के सदस्य भी रहे।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. (Everybody Loves a Good Drought)

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पालागुम्मि_साईनाथ&oldid=622617" से लिया गया