दादा साहब फाल्के  

दादा साहब फाल्के
दादा साहब फाल्के
पूरा नाम धुन्दीराज गोविंद फाल्के
प्रसिद्ध नाम दादा साहब फाल्के
जन्म 30 अप्रैल, 1870
जन्म भूमि नासिक, महाराष्ट्र
मृत्यु 16 फ़रवरी, 1944 (उम्र- 73)
कर्म भूमि मुम्बई
कर्म-क्षेत्र फ़िल्म निर्माता-निर्देशक, पटकथा लेखक
मुख्य फ़िल्में 'राजा हरिश्चंद्र', 'लंका दहन', 'श्री कृष्ण जन्म', 'गंगावतरण', 'मोहिनी भस्मासुर' आदि।
विद्यालय जे.जे. स्कूल ऑफ़ आर्ट, मुम्बई
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी दादा साहब फाल्के की सौंवीं जयंती के अवसर पर दादा साहब फाल्के पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1969 में की गई थी।

दादा साहब फाल्के (अंग्रेज़ी: Dada Saheb Phalke, जन्म: 30 अप्रैल, 1870; मृत्यु: 16 फ़रवरी, 1944) प्रसिद्ध फ़िल्म निर्माता-निर्देशक एवं पटकथा लेखक थे जो भारतीय सिनेमा के पितामह की तरह माने जाते हैं। दादा साहब फाल्के की सौंवीं जयंती के अवसर पर दादा साहब फाल्के पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1969 में की गई थी। दादा साहब फाल्के पुरस्कार भारतीय सिनेमा का सबसे बड़ा पुरस्कार है, जो आजीवन योगदान के लिए भारत की केंद्र सरकार की ओर से दिया जाता है।

जीवन परिचय

भारतीय फ़िल्म उद्योग के पितामह दादा साहब फाल्के का पूरा नाम 'धुन्दीराज गोविंद फाल्के' था किंतु वह दादा साहब फाल्के के नाम से प्रसिद्ध हैं। दादा साहब फाल्के का जन्म 30 अप्रैल, 1870 को नासिक के निकट 'त्र्यंबकेश्वर' में हुआ था। उनके पिता संस्कृत के प्रकाण्ड पंडित और मुम्बई के 'एलफिंस्टन कॉलेज' के अध्यापक थे। अत: इनकी शिक्षा मुम्बई में ही हुई। वहाँ उन्होंने 'हाई स्कूल' के बाद 'जे.जे. स्कूल ऑफ़ आर्ट' में कला की शिक्षा ग्रहण की। फिर बड़ौदा के कलाभवन में रहकर अपनी कला का ज्ञान बढ़ाया।
दादा साहब फाल्के के सम्मान में जारी डाक टिकट

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 दादा साहब फाल्के : सिनेमा के हस्ताक्षर (हिंदी) समालोचना (ब्लॉग)। अभिगमन तिथि: 16 फ़रवरी, 2013।
  2. जब फाल्के को हिरोइन नहीं मिली (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 2मई, 2011।
  3. दादासाहेब फाल्के की 148वीं जयंती पर गूगल का डूडल (हिन्दी) द क़्यूंट। अभिगमन तिथि: 1 मई, 2018।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=दादा_साहब_फाल्के&oldid=627155" से लिया गया