बौद्ध ध्वज  

बौद्ध ध्वज

बौद्ध ध्वज या 'पंचशील ध्वज' बौद्ध धर्म के प्रतीक एवं बौद्धों के सार्वभौमिक प्रतिनिधित्व के लिए 19वीं सदी में बनाया गया था। यह दुनिया भर में बौद्धों द्वारा प्रयोग किया जाता है।

रंग

ध्वज के छह ऊर्ध्वाधर बैंड आभा के छह रंगों का प्रतिनिधित्व करते हैं, जो बुद्ध के शरीर से उत्पन्न हुए, जब उन्होंने ज्ञान प्राप्ति की थी। ऐसा बौद्धों का मानना है।
नीला - प्यार, दया, शांति और सार्वभौमिक दया का प्रतीक है।
पीला - खालीपन और चरम सीमाओं से परहेज है।
लाल - अभ्यास का आशीर्वाद - उपलब्धि, ज्ञान, सदाचार, भाग्य और गरिमा।
सफेद - धर्म की पवित्रता - मुक्ति के लिए अग्रणी, समय या स्थान के बाहर।
केसरी - बुद्ध की शिक्षा - ज्ञान।

पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बौद्ध_ध्वज&oldid=647588" से लिया गया