गिलजई  

गिलजई एक अफ़ग़ान कबीले का नाम है, जिसने वर्ष 1840 ई. में अफ़ग़ानिस्तान पर चढ़ाई करने वाली ब्रिटिश सेना की दुर्बल स्थिति का लाभ उठाकर विद्रोह कर दिया था।[1]

  • गिलजई लोगों ने ज़ोरदार तरीक़े से विद्रोह किया, किंतु अंग्रेज़ फ़ौज द्वारा इसे दबा दिया गया।
  • वर्ष 1841 ई. में गिलजई कबीले के लोगों ने फिर से विद्रोह का झण्डा बुलन्द किया। इसके फलस्वरूप 1841-42 ई. में काबुल से जलालाबाद वापस आने वाली ब्रिटिश फ़ौज को बहुत हानि उठानी पड़ी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारतीय इतिहास कोश |लेखक: सच्चिदानन्द भट्टाचार्य |प्रकाशक: उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान |लिंक:- [127]

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=गिलजई&oldid=358151" से लिया गया