उत्कल ब्राह्मण  

उत्कल ब्राह्मणों का अर्थ है- उड़ीसा के ब्राह्मण। 'उत्कल' उड़ीसा का प्राचीन नाम है। 'जायसवाल' ब्राह्मण 'उत्कल' और 'बर्मन' ब्राह्मणों में भी पाये जाते हैं।[1]

  • उत्कल ब्राह्मणों का विभाजन इस प्रकार है-
  1. शशानी ब्राह्मण
  2. श्रोत्रिय ब्राह्मण
  3. पांडा ब्राह्मण
  4. घाटिया ब्राह्मण
  5. महास्थान ब्राह्मण
  6. कलिंग ब्राह्मण
  • उपरोक्त में से 'शशानी' ब्राह्मणों की निम्नलिखित उप-शाखाएं हैं-
  1. सावंत
  2. मिश्रा
  3. नंदा
  4. पाटे
  5. कारा
  6. आचार्य
  7. सम्पस्ती
  8. बेदी
  9. सेनापती
  10. पर्णाग्रही
  11. निशांक
  12. रैनपती
  • श्रोत्रिय ब्राह्मणों की चार उप-शाखाएं हैं-
  1. श्रोत्रिय
  2. सोनारबनी
  3. तेलि
  4. अग्रबक्स


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. जातिप्रथा का अभिशाप, भीमराव अम्बेडकर (हिन्दी) हिन्दी समय। अभिगमन तिथि: 21 अगस्त, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=उत्कल_ब्राह्मण&oldid=501517" से लिया गया