लाडनूं  

लाडनूं राजस्थान स्थित एक क़स्बा है। यह क़स्बा एक प्राचीन व्यापारिक मार्ग पर बसा हुआ है। यह नागौर ज़िले की लाडनूं तहसील का मुख्यालय है। राजस्थान राज्य बनने से पहले लाडनूं जोधपुर रियासत की जागीर थी।

  • राजधानी दिल्ली से लाडनूं 380 कि.मी. एवं जयपुर से 220 कि.मी. की दूरी पर स्थित है।
  • राजस्थान के निर्माण से पूर्व लाडनूं, जोधपुर रियासत कि सीमा पर बसा एक महत्त्वपूर्ण क़स्बा हुआ करता था।
  • शिलालेखों तथा इतिहासकारों के अनुसार लाडनूं प्राचीन अहिछत्रपुर का हिस्सा था, जिस पर करीब 2000 वर्षो तक नागवंशीय राजाओं का अधिकार रहा। आगे के समय में परमार राजपूतों ने उनसे अहिच्छत्रपुर को छिन लिया। उनके बाद मुग़लों ने आधिपत्य जमाया। अन्ततः इस पर जोधपुर के राठौड़ राजाओं का अधिकार रहा।
  • यह क़स्बा एक प्राचीन व्यापारिक मार्ग पर बसा हुआ है। इस मार्ग से होकर कई लुटेरे गुजरे तो कभी पराजित हुई सेनाएँ।
  • लाडनूं अपने नाम के अनुरूप धनाढ्य लोगों एवं सेठों का शहर रहा है, जहां से वे भारत के विभिन्न शहरों में फैले हुए हैं।
  • यह नगर सुजानगढ़, सीकर, बीकानेर, जोधपुर, अजमेर, जयपुर एवं अन्य प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है। दिल्ली-रतनगढ़-जोधपुर रेलवे लाइन पर यह महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=लाडनूं&oldid=526128" से लिया गया