भीलवाड़ा  

भीलवाड़ा शहर दक्षिण-मध्य राजस्थान राज्य, पश्चिमोत्तर भारत में स्थित है। बाज़ारों का नगर होने के साथ-साथ यह रेल और सड़क से जुड़ा एक संचार केन्द्र भी है। एक समय में यहाँ भीलों की बड़ी तादात पाई जाती थी। इसी कारण इस स्थान का नाम भीलवाड़ा पड़ा।[1] इसके आसपास का क्षेत्र ऊँचा और पठारी है। जिसकी ढलान वनाच्छादित पर्वतीय पूर्वोत्तर की ओर है। 1948 में राजस्थान का भाग बनने से पूर्व भीलवाडा भूतपूर्व उदयपुर रियासत का एक हिस्सा था। साहस और बलिदान की भूमि भीलवाड़ा की सीमाएं पूर्व में बूँदी, पश्चिम में राजसमंद, उत्तर में अजमेर और दक्षिण में चित्तौड़गढ़ से मिलती हैं।

इतिहास

भीलवाड़ा की स्थापना क़रीब 300 से 400 साल पहले हुई थी। भीलवाड़ा के शासकों में निरंतर युद्ध हुए इसलिए इसे कई बार उजड़ना पड़ा। अंग्रेज़ी शासन के दौरान 18वीं शताब्दी में इसकी स्थिति में धीरे-धीरे परिवर्तन हुआ। आज भीलवाड़ा उद्योग की दृष्टि से ही नहीं पर्यटन की दृष्टि से भी लोगों को आकर्षित करता है।[1]

उद्योग और व्यापार

भीलवाडा के उद्योगों में सूती वस्त्रों, हथकरघा और होजरी और धातु के बर्तन (विशेषकर टिन के बर्तन) बनाने के उद्योग शामिल है। भीलवाड़ा को टैक्सटाइल सिटी ऑफ़ इंडिया के नाम से जाना जाता है। भीलवाडा, राजस्थान के प्रमुख औद्योगिक शहरों में से एक है। भीलवाड़ा में कपड़ों के प्रमुख ब्रांड जैसे बीएसएल, मयूर सूटिंग और सुजूकी सूटिंग का उत्पादन होता है।[1] यहाँ पर बड़ी संख्या में टैक्सटाइल उद्योग लगे हुए हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 1.3 1.4 1.5 1.6 1.7 भीलवाड़ा (हिन्दी) यात्रा सलाह। अभिगमन तिथि: 29 अक्टूबर, 2010

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=भीलवाड़ा&oldid=500195" से लिया गया