ककोलत जलप्रपात  

ककोलत जलप्रपात
'ककोलत जलप्रपात', बिहार
विवरण 'ककोलत जलप्रपात' बिहार के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। यह जलप्रपात सुंदरता और प्राकृतिक सौंदर्य के लिहाज से देश के किसी भी जलप्रपात से कम नहीं है।
ज़िला नवादा
राज्य बिहार
धार्मिक मान्यता मान्यता है कि ककोलत जलप्रपात में वैशाखी के अवसर पर स्नान करने मात्र से सांप योनि में जन्म लेने से प्राणी मुक्त हो जाता है।
विशेष 'भारत सरकार' के 'डाक एवं तार विभाग' ने ककोलत जलप्रपात की ऐतिहासिक महत्ता को देखते हुए इस पर पांच रुपये मूल्य का डाक टिकट भी जारी किया था।
संबंधित लेख ऋषि मार्कण्डेय, बिहार, नवादा
अन्य जानकारी आज़ादी से पूर्व घने जंगल और दुर्गम रास्तों के बावजूद यह जलप्रपात अंग्रेज़ों के लिए गर्मी में प्रमुख पर्यटक केंद्र हुआ करता था।

ककोलत जलप्रपात बिहार के नवादा ज़िला मुख्यालय से 35 किलोमीटर की दूरी पर दक्षिण-पूर्व प्रखण्ड में स्थित है। यह जलप्रपात प्राचीन काल से प्रकृति प्रेमियों और पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। आज़ादी से पूर्व घने जंगल और दुर्गम रास्तों के बावजूद यह जलप्रपात अंग्रेज़ों के लिए गर्मी में प्रमुख पर्यटक केंद्र हुआ करता था। सात पर्वत श्रृंखलाओं से प्रवाहित होने वाला ककोलत जलप्रपात और इसकी प्राकृतिक छटा बहुत सारे कोतुहलों को जन्म देती है। यह एक ऐसा जलप्रपात है, जो सुंदरता और प्राकृतिक सौंदर्य के लिहाज से देश के किसी भी जलप्रपात से कम नहीं है।

ऐतिहासिक तथ्य

अंग्रेज़ों के शासन काल में फ़्राँसिस बुकानन ने 1811 ई. में इस जलप्रपात को देखा और कहा कि "जलप्रपात के नीचे का तालाब काफ़ी गहरा है। इसकी गहराई को भरने के उद्देश्य से एक अंग्रेज़ अधिकारी के आदेश पर इसमें स्नान करने वालों को स्नान करने से पहले तालाब में एक पत्थर फेंकने का नियम बनाया गया। इस तालाब में सैकड़ों लोगों की जानें जा चुकी हैं। वर्ष 1994 में इस जलप्रपात के नीचे के तालाब को भर दिया गया, जिससे लोग इसमें आराम से स्नान कर सकें। तब से इसका आकर्षण और बढ़ गया।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 ककोलत जलप्रपात अस्तित्व पर खतरा (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 17 मई, 2014।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ककोलत_जलप्रपात&oldid=491123" से लिया गया