निम्मी  

निम्मी
निम्मी
पूरा नाम नवाब बानू
प्रसिद्ध नाम निम्मी
जन्म 18 फ़रवरी, 1933
जन्म भूमि आगरा, उत्तर प्रदेश
अभिभावक पिता- अब्दुल हकीम, माता- वहीदन,
कर्म भूमि मुम्बई, भारत
कर्म-क्षेत्र अभिनय
मुख्य फ़िल्में बरसात, सज़ा, दाग, अमर, बसंत बहार, पूजा के फूल, हमदर्द, उड़न खटोला, सोहनी महिवाल, दाल में काला आदि।
प्रसिद्धि अभिनेत्री
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी 'आन' फ़िल्म में निम्मी की मौत और नृत्य लोकप्रिय थे। यह पहली हिन्दी फ़िल्म थी, जिसका अत्यंत भव्य प्रीमियर लंदन में हुआ था।
अद्यतन‎ 31 दिसम्बर-2012, 11:45 (IST)

निम्मी (अंग्रेज़ी: Nimmi, जन्म- 18 फ़रवरी, 1933, आगरा, उत्तर प्रदेश) भारतीय हिन्दी फ़िल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्रियों में से एक रही हैं। उनका असली नाम 'नवाब बानू' था। बॉलीवुड की इस मासूम-सी ख़ूबसूरत अभिनेत्री का राज कपूर ने फ़िल्मी दुनिया से परिचय करवाया था। हालांकि निम्‍मी की फ़िल्मी शुरुआत सहायक अभिनेत्री के तौर पर राज कपूर और नर्गिस अभिनीत फ़िल्म 'बरसात' (1949) से हुई थी। दिलचस्‍प बात तो यह भी है कि इस ख़ूबसूरत अभिनेत्री पर राज कपूर की नज़र उस समय पड़ी, जब वे एक फ़िल्म की शूटिंग देख रही थीं। निम्मी अपनी समकालीन नायिकाओं मधुबाला, नर्गिस, नूतन, मीना कुमारी, सुरैया और गीता बाली के समान ही प्रतिभाशाली थीं। निम्मी ख़ूबसूरत आँखों वाली सम्मोहक अभिनेत्री मानी जाती हैं। फ़िल्म में उनकी भूमिका को कभी भी सहनायिका के रूप में नहीं लिया गया। उन पर बहुत-सी फ़िल्मों के यादगार गीत फ़िल्माए गए थे। निर्देशक के. आसिफ़ की फ़िल्म 'लव एंड गॉड' उनकी आखिरी फ़िल्म थी।

जन्म

अभिनेत्री निम्मी का जन्म 18 फ़रवरी, 1933 को आगरा में हुआ था। उनकी माँ का नाम वहीदन था, जो अपने दौर की मशहूर गायिका और अभिनेत्री थीं। निम्मी के पिता अब्दुल हकीम मिलिट्री में ठेकेदार थे। जब निम्मी केवल नौ वर्ष की थीं, तब इनकी माँ का स्वर्गवास का हो गया। उनके पिता ने निम्मी को ऐबटाबाद[1]रहने के लिए दादी के पास भेज दिया। निम्मी के पिता स्वयं आगरा छोड़ कर मेरठ आ गये।

मुम्बई आगमन

सन 1947 में भारत और पाकिस्तान के विभाजन के बाद शरणार्थियों की भीड़ में निम्मी और उनकी दादी भी थीं। निम्मी अपनी दादी के साथ बम्बई (वर्तमान मुम्बई) आ गयीं, जहाँ उनकी मौसी ज्योति रहती थीं, जो की हिन्दी फ़िल्मों में काम करती थीं। अब बम्बई निम्मी का नया आशियाना था, जहाँ एक रिफ्यूजी लड़की इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करवाने के लिए तैयार थी।

विवाह

निम्मी कभी स्कूल नहीं गई थीं। इसलिए घर की पढ़ाई ने उन्हें उर्दू तक ही सीमित रखा। वैसे फ़िल्मों में काम करते समय उन्होंने अंग्रेज़ी ज़रूर सीखी थी, लेकिन वे बातचीत अपनी ही जुबान में करती थीं। एक दिन काम करते वक्त निम्मी की मुलाकात लेखक अली रजा से हुई। संवाद की रिहर्सल कराने के लिए अली रजा ने निम्मी की मदद की। बाद में अली रजा ने ही उनमें शायरी का शौक़ पैदा कर दिया। बाद में यह शायरी दोस्ती और प्यार में बदल गई तो निम्मी ने लेखक-पटकथाकार अली रजा से शादी कर ली।[2]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अब पाकिस्तान में
  2. फ़िल्मी दुनिया की भोली-भाली लड़की निम्मी (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 30 दिसम्बर, 2012।
  3. 3.0 3.1 3.2 निम्मी (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 30 दिसम्बर, 2012।
  4. मधुबाला, दिलीप कुमार (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 30 दिसम्बर, 2012।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=निम्मी&oldid=617260" से लिया गया