अल्ज़ाइमर  

अल्ज़ाइमर
अल्ज़ाइमर रोग से पीड़ित एक वृद्धा
विवरण अल्ज़ाइमर वृद्धावस्था का एक असाध्य रोग माना गया है। यह याददाश्त को प्रभावित करने वाली एक मानसिक गड़बड़ी है, जिसे डिमेंशिया कहा जाता है। अल्ज़ाइमर इसी मानसिक गड़बड़ी का सबसे सामान्य रूप है।
अन्य नाम एल्ज़ाइमर / विस्मृति रोग / भूलने का रोग
इतिहास सन 1906 में जर्मन के डॉ. ओलोए अल्जीमीर ने एक महिला के दिमाग के परीक्षण में पाया कि उसमें कुछ गांठे पड़ गई हैं, जिन्हें चिकित्सक ‘प्लेट’ कहते हैं। यही रोग उस डॉ. के नाम पर अल्ज़ाइमर रोग कहलाया जाने लगा।
अवस्था इस रोग की तीन अवस्थाएं होती हैं। मन्द, मध्यम और गंभीर। मंद अवस्था में नाम अथवा संख्या भूलना और मानसिक संतुलन में गड़बड़ी होना हो सकता है। मध्यम अवस्था में घबराहट, उलझन, अस्त-व्यस्तता तथा रोगी के व्यक्तित्व में शोचनीय परिर्वतन नज़र आता है, उसके मानसिक संतुलन में भी अत्यधिक गड़बड़ी दृष्टिगत होती है। गम्भीर अवस्था में रोगी को कपड़े पहनने, मूत्र और शौच त्याग आदि का भी ध्यान नहीं रहता। भोजन से लेकर सोने तक वह सब कुछ भूल जाता है।
संबंधित लेख ऑटिज़्म, हिस्टीरिया, प्रोजेरिया
अन्य जानकारी 60 या 65 वर्ष पार करते करते अक्सर लोगों को इस बीमारी का शिकार होना पड़ता है। इसके बाद हर दस साल में अल्ज़ाइमर के मरीज़ों में वृद्धि होती जाती है। कम उम्र के लोगों में अमूमन यह नहीं होता है।

अल्ज़ाइमर रोग / एल्ज़ाइमर (अंग्रेज़ी: Alzheimer's Disease) अथवा विस्मृति रोग (भूलने का रोग) वृद्धावस्था का एक असाध्य रोग माना गया है। यह याददाश्त को प्रभावित करने वाली एक मानसिक गड़बड़ी है, जिसे डिमेंशिया कहा जाता है। अल्ज़ाइमर इसी मानसिक गड़बड़ी का सबसे सामान्य रूप है। सन 1906 में जर्मन के डॉ. ओलोए अल्जीमीर ने एक महिला के दिमाग के परीक्षण में पाया कि उसमें कुछ गांठे पड़ गई हैं, जिन्हें चिकित्सक ‘प्लेट’ कहते हैं। यही रोग उस डॉ. के नाम पर अल्ज़ाइमर रोग कहलाया जाने लगा।

लक्षण

अल्ज़ाइमर व्यक्ति के मस्तिष्क को प्रभावित करने वाली बीमारी होती है। इस बीमारी से ग्रसित होने के कई वर्ष बाद इसका लक्षण दिखाई देता है। इस बीमारी के लक्षणों में याददाश्त की कमी होना, जिसमें रोगी धीरे-धीरे सब कुछ भूलने लग जाता है। यहाँ तक कि वह स्वयं को भी भूल जाता है। ज़्यादा बढ़ जाने पर व्यक्ति अपनी याददाश्त पूरी तरह से गंवा देता है। अल्ज़ाइमर पीड़ित बुजुर्ग छोटी-छोटी बातों को भूलने लगते हैं। शुरुआती लक्षणों पर गौर करना ज़रूरी है। शुरू-शुरू में वह चीज़ों के रखने का स्थान, किसी व्यक्ति का नाम, टेलीफ़ोन नम्बर, ब्रश करना आदि भूलने लगता है। उसे अपना चश्मा ढूंढ़ने में समय लग सकता है या उसे याद नहीं रहता कि उसने चाबी कहाँ रखी है, किसी परिचित के मिलने पर उसका नाम याद नहीं आता, निर्णय न ले पाना, सरल वाक्यों को बोलने में दिक्कत महसूस करना दिनचर्या के सामान्य कार्यों को करने में दिक्कत महसूस करना, अचानक चिड़चिड़ाहट पैदा होना और गुस्से का बढ़ जाना; ऐसी समस्या के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं। फिर धीरे-धीरे रोगी अपने परिवार के सदस्यों का नाम भूलने लगता है। फिर ऐसी स्थिति आती है कि वह किसी को नहीं पहचानता तथा फिर इसकी वजह से सामाजिक और पारिवारिक समस्याओं की गंभीर स्थिति आदि शामिल हैं। अल्ज़ाइमर उम्र की ढलान पर होने वाला ऐसा असाध्य रोग है जो कई रोगों की वजह बन जाती है। अल्ज़ाइमर में याददाश्त इतनी कमज़ोर हो जाती है कि बुजुर्ग मधुमेह, दिल व ऐसी ही कुछ अन्य बीमारियां होने पर भी अपने दर्द और परेशानी को नहीं जान पाते हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अल्ज़ाइमर के उपचार में संगीत-चिकित्सा (हिन्दी) (पी.एच.पी) जनोक्ति। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  2. लाइलाज बीमारी अल्ज़ाइमर (हिन्दी) (ए.एस.पी) खबर इंडिया डॉट कॉम। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  3. रक्त जांच से पता चलेगा अल्ज़ाइमर का (हिन्दी) (पी.एच.पी) जोश 18। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  4. सिर का बड़ा आकार बचाता है अल्ज़ाइमर से (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) लाइव हिन्दुस्तान डॉट कॉम। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  5. 5.0 5.1 5.2 संभव हो सकता है अल्ज़ाइमर का इलाज (हिन्दी) (पी.एच.पी) देशबन्धु। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  6. अल्ज़ाइमर के इलाज में विफल हैं पीड़ाहारी दवाएँ (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) वेब दुनिया हिन्दी। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  7. समय से पहले पता चल जाएगा अल्ज़ाइमर का (हिन्दी) (एच.टी.एम.एल) अमर उजाला कॉम्पैक्ट। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अल्ज़ाइमर&oldid=612574" से लिया गया