थैलेसिमिया  

थैलेसिमिया और सामान्य अवस्था में लाल रक्त कोशिकाएँ

थैलेसिमिया (अंग्रेज़ी: Thalassemia) एक आनुवांशिक बीमारी है, जो माता-पिता से उसकी संतान को होती है। इस बीमारी से ग्रस्त हो जाने पर शरीर में लाल रक्त कण बनने बंद हो जाते हैं। शरीर में रक्त की कमी आ जाती है। बार-बार रक्त चढ़ाना पड़ता है। थैलेसिमिया बीमारी अधिकांशत: शिशुओं में देखने को मिलती है। 8 मई को पूरी दुनिया में विश्व थैलेसिमिया दिवस मनाया जाता है। थैलेसिमिया में शरीर का रंग पीला पड़ जाता है। इस रोग के बारे में बहुत कम लोगों को ही जानकारी है। यह बीमारी आनुवांशिक है, रिश्तेदारी के साथ पीढ़ी दर पीढ़ी चलती है। बीमारी का जन्म शिशु के साथ होता है, जो उम्र भर साथ नहीं छोड़ती। इसका सिर्फ एक समाधान है और वह है- 'रिश्तों में सावधानी बरतना"। यह बीमारी कुछ विशेष समुदायों में है। उन समुदायों के रिवाज ही इस बीमारी को रोक सकते हैं। चिकित्सकों के अनुसार थैलेसिमिया वंशानुगत बीमारी है, लेकिन इसकी रोकथाम आसानी से की जा सकती है। यदि विवाह से पूर्व सभी इसकी जांच करवा लें तो निदान आसानी से और कम कीमत पर हो जाता है। गर्भावस्था में जांच करने पर यदि इस बीमारी के लक्षण पाये जाते हैं तो डॉक्टर महिला को गर्भपात की सलाह देते हैं। मुख्यतः यह बीमारी सिंधियों, राजपूतों एवं मुस्लिमों में पाई जाती है। डॉक्टरों का यह भी कहना है कि इस बीमारी को छिपाना नहीं चाहिए।

आनुवांशिक रोग

जिन आनुवंशिक स्वास्थ्य समस्याओं को गंभीर रोगों की श्रेणी में रखा जाता है, थैलेसिमिया भी उनमें से एक है। इसमें जीन की संरचना में जन्मजात रूप से गड़बड़ी होने की वजह से शरीर में शुद्ध रक्त का निर्माण नहीं हो पाता और अशुद्ध रक्त शरीर के अपने मेकैनिज्म के जरिये स्वाभाविक रूप से नष्ट हो जाता है। इस वजह से थैलेसिमिया के मरीजों के शरीर में हमेशा खून की कमी रहती है और उसमें हीमोग्लोबिन का स्तर भी बहुत कम रहता है। अकसर लोग इसे बच्चों की बीमारी समझ लेते हैं, पर वास्तव में ऐसा है नहीं। दरअसल जिनकी रक्त कोशिकाओं की संरचना में बहुत ज्यादा गड़बड़ी होती है, उनमें जन्म के कुछ दिनों के बाद ही इस बीमारी की पहचान हो जाती है, अगर रक्त कोशिकाओं की संरचना में ज्यादा गड़बड़ी न हो तो कई बार लोगों में 60-65 वर्ष की उम्र में भी अचानक इस बीमारी के लक्षण देखने को मिलते हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. लाइलाज नहीं है थैलेसिमिया (हिन्दी) जागरण। अभिगमन तिथि: 11 मई, 2015।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=थैलेसिमिया&oldid=617163" से लिया गया