डेंगू  

डेंगू
एडीज मच्छर
विवरण 'डेंगू' एक जानलेवा संक्रामक गम्भीर रोग है। यह रोग एक वायरस द्वारा होता है, इसे "डेन वायरस" कहते हैं।
अन्य नाम 'डेंगी', 'डेंगू बुख़ार', 'डेंगू फीवर', 'डेंगू ज्वर' तथा 'हड्डी तोड़ बुख़ार'
डेंगू वायरस के प्रकार 'डेन-1', 'डेन-2', 'डेन-3' और 'डेन-4'[1]
मुख्य लक्षण मुख्य तीन लक्षण हैं-
  • तीव्र बुख़ार
  • जोड़ों, मांसपेशियों और शरीर में दर्द
  • चिड़चिड़ापन तथा सिर दर्द
वाहक इस रोग के वाहक 'एड़ीज मच्छर' की दो प्रजातियां हैं- 'एडीज एजिपटाई'[2] तथा 'एडीज एल्बोपेक्टस'
विशेष डेंगू की जांच हेतु रक्त के नमूने 'राष्ट्रीय संचारी रोग संस्थान', दिल्ली तथा 'राष्ट्रीय विषाणु रोग संस्थान' पुणे भेजे जाते हैं, वहीं उनकी जांच होती है। आजकल जांच हेतु 'रेपिड डाइग्नोस्टिक किट' भी उपलब्ध हैं।
अन्य जानकारी मलेरिया की तरह डेंगू बुख़ार भी मच्छरों के काटने से फैलता है। डेंगू सभी मच्छर से नहीं फैलता। यह केवल कुछ जाति के मच्छर से ही फैलता है।

डेंगू (अंग्रेज़ी: Dengue) अथवा 'डेंगी' / 'डेंगू बुख़ार' / 'डेंगू फीवर' / 'डेंगू ज्वर' एक ख़तरनाक संक्रामक रोग है। आम भाषा में इस बीमारी को "हड्डी तोड़ बुख़ार" कहा जाता है, क्योंकि इसके कारण शरीर व जोड़ों में बहुत दर्द होता है। डेंगू के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाने तथा इसके प्रति सचेत रहने के लिए ही प्रतिवर्ष '10 अगस्त' को 'डेंगू निरोधक दिवस' मनाया जाता है।

डेंगू के लक्षण

डेंगू के मुख्य लक्षण हैं- तीव्र बुख़ार, जोड़ों में मांसपेशियों में और शरीर दर्द, चिड़चिड़ापन तथा सिर दर्द। यह एड़ीज मच्छर के काटने से होने वाला एक तीव्र वायरल इन्फेक्शन है। इससे शरीर की सामान्य क्लॉटिंग (थक्का जमना) की प्रक्रिया अव्यवस्थित हो जाती है। ऐसी अवस्था प्लेटलेट के बहुतायत में नष्ट होने के कारण होती है। इससे कभी-कभी घातक रूप में सारे शरीर में रक्तस्राव होने लगता है। यह एक ऐसी बीमारी है जिसे महामारी के रूप में देखा जाता है। वयस्कों के मुक़ाबले, बच्चों में इस बीमारी की तीव्रता अधिक होती है। यह बीमारी यूरोप महाद्वीप को छोड़कर पूरे विश्व में होती है तथा काफ़ी लोगों को प्रभावित करती है। डेंगू की स्थिति में मृत्युदर लगभग एक प्रतिशत है। यह बरसात के मौसम में तेज़ी से फैलता है। आपको या आपके पड़ोसी को अगर डेंगू बुख़ार हो जाता है, तो इससे बचने के उपाय अपनायें। सबसे पहले रक्तजांच करायें और अपने आसपास मच्छरों से सुरक्षा के उपाय अपनायें। साधारणतः गर्मी के मौसम में यह रोग महामारी का रूप ले लेता है जब मच्छरों की जनसंख्या अपने चरम सीमा पर होती है। डेंगू एशिया, अफ़्रीका, दक्षिण तथा मध्य अमेरिका के कई उष्ण तथा उपोष्ण क्षेत्रों में होता है।[3]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. DEN-1, DEN-2, DEN-3, DEN-4
  2. Aedes aegypti
  3. डेंगू बुखार : एक संक्रामक रोग (बचाव) (हिन्दी) (ए.एस.पी) नारद समाचार। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  4. डेंगू या डेंगी (हिन्दी) (पी.एच.पी) निरोग। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011
  5. ये मच्छर जानलेवा है (हिन्दी) (पी.एच.पी) देशबन्धु। अभिगमन तिथि: 9 मार्च, 2011

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=डेंगू&oldid=617342" से लिया गया