शिरा  

  • (अंग्रेज़ी:Vein) शिरा लेख में मानव शरीर से संबंधित उल्लेख है।
  • शिराएँ वे रुधिर वाहिनियाँ हैं जो रुधिर को विभिन्न अंगों से हृदय की ओर वापस ले जाती हैं।
  • पल्मोनरी शिराओं के अतिरिक्त इनमें अशुद्ध रुधिर बहता है।
  • पल्मोनरी शिरा में शुद्ध रक्त बहता है।
  • इनकी दीवारें पतली तथा कम लचीली होती हैं।
  • इनका भीतरी व्यास अधिक होता है।
  • इनमें जगह–जगह कपाट लगे होते हैं।
  • इनमें रुधिर बहुत कम दबाव के कारण सामान्य गति से बहता रहता है।
  • ये रुधिर न रहने पर चिपक जाती हैं।
  • इनका रंग नीला या बैंगनी होता है।
  • ये प्रायः त्वचा के समीप ही स्थित होती हैं।
  • इनमें हर समय रुधिर का लगभग 64% भरा रहता है।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शिरा&oldid=157555" से लिया गया