सिक्ख चित्रकला  

  • सिक्ख शैली का विकास लाहौर राज्य के राजा महाराजा रणजीत सिंह के शासन काल (1803 से 1839) में हुआ।
  • सिक्ख शैली के विषयों का चयन पौराणिक महाकाव्यों से किया गया है जबकि इसका स्वरूप पूर्णत: भारतीय है।
  • सिक्ख शैली में भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं से सम्बन्धित 'रागमाला' के चित्रों की प्रधानता है।
  • कालान्तर में इस शैली पर मुग़ल शैली के हावी हो जाने से इसका प्रभाव क्षीण होता गया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=सिक्ख_चित्रकला&oldid=225335" से लिया गया