कराईकुडी  

कराईकुडी (अंग्रेज़ी: Karaikudi) भारत के तमिल नाडु राज्य के शिवगंगा ज़िले में स्थित एक नगर है। यह नगर रामेश्वरम-तिरुचिरापल्ली मार्ग पर स्थित है। कराईकुडी का नाम इस क्षेत्र में चूना पत्थर से बनाये जाने वाले विशेष प्रकार के घरों, जिन्हें "कारै वीडू" कहा जाता है से और "कारै" नामक पौधा जो कि यहाँ अधिक मात्रा में पाया जाता है, के कारण पड़ा है।

प्रसिद्धि

प्रसिद्ध पिलियारपट्टी मंदिर कराईकुडी से मात्र 12 किलोमीटर दूर है। कराईकुडी को मीनाक्षी-सुन्दरेश्वर मंदिर के लिए भी जाना जता है, जिसे शिव मंदिर भी कहते हैं। इसमें गणेश की 108 मूर्तियाँ हैं। कराईकुडी के उत्तर-पूर्व में स्थित सेक्काले को जैन कुंड पुरम के नाम से भी जाना जाता था। इसी दिशा में स्थित स्थान मुत्तु पटनम, मुत्तु मारियम्मन मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। कराईकुडी के मध्य में कल्लुकट्टी है, जहां कोप्पडैयम्मन मंदिर स्थित है। थेन्नार नदी कराईकुडी के दक्षिण दिशा से बहती है।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 कराईकुडी (हिंदी) cecri.res.in। अभिगमन तिथि: 22 मार्च, 2020।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कराईकुडी&oldid=643208" से लिया गया