मुहूर्त  

मुहूर्त (अंग्रेज़ी: Muhurta) हिन्दू धर्म में एक समय मापन इकाई है। आजकल हिन्दी भाषा में इस शब्द को किसी कार्य को आरम्भ करने की शुभ घड़ी के रूप में देखा जाने लगा है।

  • एक मुहूर्त बराबर होता है- दो घड़ी के या लगभग 48 मिनट के।
  • अमृत/जीव मुहूर्त और ब्रह्म मुहूर्त बहुत श्रेष्ठ होते हैं। ब्रह्म मुहूर्त सूर्योदय से पच्चीस नाड़ियां पूर्व यानि लगभग दो घंटे पूर्व होता है। यह समय योग साधना और ध्यान लगाने के लिये सर्वोत्तम कहा गया है।
  • ए. ए. मैकडोनेल के अनुसार तैत्तिरीय ब्राह्मण में 15 मुहुर्तों के नाम गिनाए गये हैं- संज्ञानं, विज्ञानं, प्रज्ञानं, जानद्, अभिजानत्, संकल्पमानं, प्रकल्पमानम्, उपकल्पमानम्, उपकॢप्तं, कॢप्तम्, श्रेयो, वसीय, आयत्, संभूतं, भूतम्।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मुहूर्त&oldid=641031" से लिया गया