ख़ूनी दरवाज़ा  

ख़ूनी दरवाज़ा, दिल्ली

ख़ूनी दरवाज़ा दिल्ली में स्थित एक आकर्षक पर्यटन स्थल है।

  • ख़ूनी दरवाज़ा बहादुर जफ़र मार्ग का प्रवेश द्वार है।
  • गद्दी के लिए हुए संघर्ष में जब औरंगज़ेब ने अपने भाई दारा शिकोह के सिर को धड़ से अलग कर दिया था, तो उसी सिर को यहाँ पर रखा गया था। इसीलिए इस स्थान का नाम ख़ूनी दरवाज़ा रखा गया।
  • यह भी कहा जाता है कि अन्तिम मुग़ल सम्राट बादशाह बहादुर शाह जफ़र के दो पुत्रों एवं एक पोते की 1857 में यहाँ अंग्रेज़ों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी और उनके शव भी यहाँ जनता के दर्शनार्थ रखे गए थे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

वीथिका

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ख़ूनी_दरवाज़ा&oldid=573547" से लिया गया