चन्दो ताल  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
चन्दो/चंदो/चन्दों/चंदू ताल

बस्ती ज़िला के दक्षिण पश्चिमी सिरे पर विशाल जलाशय के रूप में अपने गौरवमयी इतिहास को समेटे चन्दो ताल, गोरखपुर के रामगढ़ ताल, संतकबीरनगर के बखिरा ताल की तरह आकर्षण का केन्द्र रहा है।

विशाल झील चन्दो तल बस्ती ज़िला मुख्यालय से आठ किलोमीटर की दूरी पर और नगर गांव की पश्चिम दिशा में स्थित है। यह झील पांच किलोमीटर लम्बी और चार किलोमीटर चौड़ी है। इसके अलावा इस झील में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पक्षियों की अनेक प्रजातियां भी देखी जा सकती है। यह मछली पकड़ने और निशानेबाज़ी करने के लिए प्रसिद्ध है।

गजेटियर के अनुसार 17 वीं शताब्दी में यहां राजभरों का राज्य चन्द्र नगर के नाम से विकसित हुआ। विकसित सभ्यता का प्रमाण खुदाई के दौरान लोगों को मिलता है। माना जाता है कि इस झील के आस-पास की जगह से मछुवारों व कुछ अन्य लोगों को प्राचीन समय के धातु के बने आभूषण और ऐतिहासिक अवशेष प्राप्त हुए थे। कुछ समय पश्चात् यह जगह प्राकृतिक रूप से एक झील के रूप में बदल गई और इस जगह को चंदू तल के नाम से जाना जाने लगा।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=चन्दो_ताल&oldid=595904" से लिया गया