कार्ल जोनास लुडविग आल्मक्विस्ट  

आल्मक्विस्ट, कार्ल जोनास लुडविग (1793-1866) स्वीडन के लेखक। पहला उपन्यास गुलाब का काँटा 1832-35 में प्रकाशित हुआ जिससे ख्याति फैल गई। इन्होंने कविता, उपन्यास, लेख, भाषण, मीमांसा आदि अनेक विषयों पर लेखनी चलाई और सभी में सफल हुए। अपनी सर्वतोमुखी प्रतिभा और उत्कृष्ट शैली के कारण ये स्वीडन के पहले लेखक कहे जाते हैं। इनका जीवन आस्थिर बीता; एक के बाद एक अनेक नौकरियां छोड़ी, बाद में लेखक हुए।

1851 में जालसाजी और हत्या के अभियोग से बचने के लिए स्वीडन से भाग गए। बहुत दिनों तक कुछ भी पता न लगा, पर लोगों का विश्वास है कि वह अमरीका चले गए और वहीं पर बस गए।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 1 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 450 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कार्ल_जोनास_लुडविग_आल्मक्विस्ट&oldid=633641" से लिया गया