मध्य प्रदेश में शिक्षा  

  • 2001 की गणना के अनुसार मध्य प्रदेश में साक्षरता बढ़ी है।
  • 1991 के 44.67 प्रतिशत की तुलना में साक्षरता दर बढ़कर 64.11 प्रतिशत हो गई है।
  • यहाँ प्राथमिक, माध्यमिक व उच्च शिक्षा के विद्यालय और साथ ही पालिटेक्निक, औद्योगिक कला तथा शिल्प विद्यालय हैं।
  • मध्य प्रदेश में कई विश्वविद्यालय हैं।
  • इनमें सबसे पुराने और विख्यात सागर और उज्जैन हैं।
  • जबलपुर में एक कृषि विश्वविद्यालय भी है।
  • भोपाल में पत्रकारिता और जन-सम्पर्क शिक्षा संस्थान भी है।
शिक्षण संस्थान
  • अवधेश प्रताप सिंह विश्‍वविद्यालय,
  • बरकतुल्‍लाह विश्‍वविद्यालय,
  • देवी अहिल्‍या विश्‍वविद्यालय,
  • डॉ. हरिसिंह गौर विश्‍वविद्यालय,
  • भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी एवं प्रबंध संस्‍थान (मानद विश्‍वविद्यालय),
  • जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्‍वविद्यालय,
  • जीवाजी विश्‍वविद्यालय,
  • लक्ष्‍मीबाई राष्‍ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्‍थान(मानद विश्‍वविद्यालय),
  • मध्‍य प्रदेश भोज (मुक्‍त) विश्‍वविद्यालय,
  • महर्षि महेश योगी वैदिक विश्‍वविद्यालय,
  • महात्‍मा गांधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्‍वविद्यालय,
  • माखनलाल चतुर्वेदी राष्‍ट्रीय‍ पत्रकारिता विश्‍वविद्यालय,
  • मौलाना आज़ाद राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान (मानद विश्‍वविद्यालय),
  • राष्‍ट्रीय विधि संस्‍थान विश्‍वविद्यालय,
  • राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्‍वविद्यालय,
  • रानी दुर्गावती विश्‍वविद्यालया,
  • विक्रम विश्‍वविद्यालय।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मध्य_प्रदेश_में_शिक्षा&oldid=170782" से लिया गया