झारखण्ड में शिक्षा  

  • झारखंड में साक्षरता दर 1991 के 41.39 प्रतिशत की तुलना में 54.13 प्रतिशत हो गई है।
  • यहाँ 21,386 विद्यालय और पाँच विश्वविद्यालय हैं।
  • इसके अलावा यहाँ इंडियन स्कूल ऑफ़ माइंस, जाना- माना व्यापार एवं प्रबंधन संस्थान, ज़ेवियर लेबर रिलेशंस इंस्टिट्यूट और केंद्रीय खनन शोध संस्थान जैसे शैक्षणिक व शोध संस्थान स्थित हैं।
  • जमशेदपुर स्थित इंडो- डैनिश टूल रूम (आई. डी. टी. आर.), रांची स्थित डिज़ाइन डेवलेपमेंट ऐंड ट्रेनिंग सेंटर और मेन टूल रूम औद्योगिक क्रियाकलापों को कलपुर्ज़ो व प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध कराने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।
  • झारखंड की शिक्षा संस्थाओं में कुछ अत्यंत प्रमुख शिक्षा संस्थान शामिल हैं।
  • जनजातिय प्रदेश होने के बावज़ूद यहां कई नामी सरकारी एवं निजी कॉलेज हैं जो कला, विज्ञान, अभियांत्रिकी, मेडिसिन, क़ानून और मैनेजमेंट में उच्च स्तर की शिक्षा देने के लिये विख्यात हैं ।
शिक्षण संस्थान
  • राँची विश्ववविद्यालय, राँची
  • सिद्धू कान्हू विश्वविद्यालय, दुमका
  • विनोबा भावे विश्वविद्यालय, हज़ारीबाग़
  • बिरसा कृषि विश्वविद्यालय, राँची
  • बिरला प्रौद्योगिकी संस्थान, मेसरा, राँची
अन्य संस्थान
  • राष्ट्रीय धातुकर्म प्रयोगशाला, जमशेदपुर
  • राष्ट्रीय खनन शोध संस्थान, धनबाद
  • भारतीय लाह शोध संस्थान, राँची
  • राष्ट्रीय मनोचिकत्सा संस्थान, राँची
  • जेवियर प्रबंधन संस्थान


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=झारखण्ड_में_शिक्षा&oldid=394133" से लिया गया