हार्वर्ड विश्वविद्यालय  

हार्वर्ड विश्वविद्यालय

हार्वर्ड विश्वविद्यालय (अंग्रेज़ी: Harvard University) अमेरिका ही नहीं अपितु विश्व के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में से एक है। इस विश्वविद्यालय को विश्व के उच्च शिक्षण संस्थानों में गिना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यहां से पढ़ने वाला हर विद्यार्थी विश्व में एक अलग ही मुकाम हासिल करता है। हार्वर्ड विश्वविद्यालय से अब तक कई अमेरिकी राष्ट्रपति पढ़ाई कर चुके हैं। इसके अलावा कई 'नोबेल पुरस्कार' विजेता और दुनिया की कई मशहूर शख्सियतें भी इस विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर चुकी हैं।

इतिहास

हार्वर्ड विश्वविद्यालय की स्थापना जॉन हॉर्वर्ड और मैसाचुसेट्स के जनरल कोर्ट के वोट द्वारा 1636 ई. में की गई थी। शुरुआत में इस यूनिवर्सिटी में सिर्फ 9 छात्र ही पढ़ते थे। पहले हॉर्वर्ड में क्लासिकल एकेडमिक कोर्स ही करवाए जाते थे, लेकिन समय के साथ-साथ यहाँ कई एडवांस कोर्स शुरू होते गये और धीरे-धीरे ये यूनिवर्सिटी विश्व में हायर एजुकेशन का हब बन गई। फिलहाल इस विश्वविद्यालय में 21,000 से ज्यादा छात्र शिक्षा प्राप्त कर रहे है।[1]

शैक्षिक इकाईयाँ

हार्वर्ड विश्वविद्यालय में लगभग 4500 कोर्स करवाए जाते हैं, जिनमें प्रवेश के लिए हर साल लाखों लोग आवेदन करते है। यूनिट्स के नाम कुछ इस तरह हैं-

  • ग्रेजुएट स्कूल ऑफ आर्ट्स एंड साइंस
  • फैक्लटी ऑफ आर्ट्स एंड साइंस
  • ग्रेजुएट स्कूल ऑफ एजुकेशन
  • डिविजन ऑफ कंटीन्यूइंग एजुकेशन
  • डिवीजन स्कूल
  • बिजनेस स्कूल
  • डिजाइन स्कूल
  • मेडिकल स्कूल
  • फैकल्टी ऑफ मेडिसिन
  • स्कूल ऑफ डेंटल मेडिसिन
  • स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ
  • रेडक्लिफ इंस्टीट्यूट फॉर एडवांस्ड स्टडी

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. आप भी ले सकते है 'हार्वर्ड विश्वविद्यालय' में एडमिशन (हिंदी) careerindia.com। अभिगमन तिथि: 13 जनवरी, 2020।
  2. हार्वर्ड विश्वविद्यालय, शिक्षा का काबा (हिंदी) navodayatimes। अभिगमन तिथि: 13 जनवरी, 2020।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=हार्वर्ड_विश्वविद्यालय&oldid=639114" से लिया गया