भोज परमार  

(राजा भोज से पुनर्निर्देशित)


Disamb2.jpg भोज एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- भोज (बहुविकल्पी)
भोज परमार
भोपाल स्थित राजा भोज की प्रतिमा
पूरा नाम भोज परमार
पिता/माता सिंधुराज
पति/पत्नी लीलावती
उपाधि 'नवसाहसाक' अर्थात् 'नव विक्रमादित्य'
राजधानी धार, मध्य प्रदेश
वंश परमार वंश
शासन काल 1018-1060 ई. तक
संबंधित लेख परमार वंश, वाक्पति मुंज, भोज, भोज (बहुविकल्पी)
विशेष भोज परमार ने कई विषयों के अनेक ग्रंथों का निर्माण किया था। वह बहुत अच्छा कवि, दार्शनिक और ज्योतिषी भी था। उसने लगभग 84 ग्रन्थों की रचना की थी।
रचनाएँ राजमार्तण्ड', 'सरस्वतीकण्टाभरण', 'सरस्वतीकठाभरण', 'श्रृंगारप्रकाश', 'तत्त्वप्रकाश', 'वृहद्राजमार्तण्ड', 'राजमृगांक' आदि।
अन्य जानकारी अपने चाचा वाक्पति मुंज की ही भाँति भोज भी पश्चिमी भारत में एक साम्राज्य स्थापित करना चाहता था और इस इच्छा की पूर्ति के लिये उसे अपने पड़ोसी राज्यों से हर दिशा में युद्ध करना पड़ा।

भोज परमार मालवा के 'परमार' अथवा 'पवार वंश' का नौवाँ यशस्वी राजा था। उसने 1018-1060 ई. तक शासन किया। उसकी राजधानी धार थी। भोज परमार ने 'नवसाहसाक' अर्थात् 'नव विक्रमादित्य' की पदवी धारण की थी। भोज ने बहुत-से युद्ध किए और पूर्णत: अपनी प्रतिष्ठा स्थापित की, जिससे सिद्ध होता है कि उसमें असाधारण योग्यता थी। यद्यपि उसके जीवन का अधिकांश समय युद्धक्षेत्र में बीता, तथापि उसने अपने राज्य की उन्नति में किसी प्रकार की बाधा न उत्पन्न होने दी। राजा भोज ने मालवा के नगरों व ग्रामों में बहुत-से मंदिर बनवाए, यद्यपि उनमें से अब बहुत कम का पता चलता है। भोज स्वयं एक विद्वान् था और कहा जाता है कि उसने धर्म, खगोल विद्या, कला, कोश रचना, भवन निर्माण, काव्य, औषधशास्त्र आदि विभिन्न विषयों पर पुस्तकें लिखीं, जो अब भी वर्तमान हैं।

परिचय

भोज परमार वंश के नवें राजा थे। परमार[1] वंशीय राजाओं ने मालवा की राजधानी 'धारा नगरी' (धार) से आठवीं शताब्दी से लेकर चौदहवीं शताब्दी के पूर्वार्ध तक राज्य किया। राजा भोज वाक्पति मुंज के छोटे भाई सिंधुराज का पुत्र था। रोहक इसका प्रधानमंत्री और भुवनपाल मंत्री था। कुलचंद्र, साढ़ तथा तरादित्य इसके सेनापति थे, जिनकी सहायता से भोज ने राज्य संचालन सुचारु रूप से किया।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पवार (हिन्दी)/पोवार (मराठी)
  2. तंच्यावूर

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=भोज_परमार&oldid=613308" से लिया गया