राजमंड्री  

राजमंड्री एक शहर, जो दक्षिण-पूर्वी भारत के आंध्र प्रदेश राज्य में गोदावरी नदी के डेल्टा पर स्थित है। यह शहर इमारती लकड़ियों तथा चावलनमक का केंद्र है। यहाँ काग़ज़ बनाने की मिलें भी हैं।[1]

इतिहास

1449 ई. में राजमंड्री पर उड़ीसा के शासक कपिलेश्वर का अधिकार हो गया था। सन 1757 में इसे अंग्रेज़ों को सौंप दिया गया।

सेतु

गोदावरी नदी पर बना 56 स्पैन (विस्तार) वाला और 2,754 मीटर लंबा पुल भारत के सबसे लंबे पुलों में से एक है।

शैक्षणिक संस्थान

राजमंड्री के शैक्षणिक संस्थानों में 'राजीव गांधी डिग्री कॉलेज', 'डॉ. ए.आर. गवर्नमेंट होम्योपैथिक मैडिकल कॉलेज', 'अवंति डिग्री कॉलेज' और 'आंध्र महिला संस्कृत महाविद्यालय' शामिल हैं। यहाँ के अनेक महाविद्यालय 'आंध्र विश्वविद्यालय' से संबद्ध हैं। यहाँ 'केंद्रीय तंबाकू शोध संस्थान' भी स्थित है।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 भारत ज्ञानकोश, खण्ड-5 |लेखक: इंदु रामचंदानी |प्रकाशक: एंसाइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली और पॉप्युलर प्रकाशन, मुम्बई |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 60 |

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=राजमंड्री&oldid=503649" से लिया गया