मुल्ला बहबहानी  

मुल्ला बहबहानी एक ईरानी धर्माचार्य था, जिसने भारत की यात्रा की थी। वह पहली बार वर्ष 1807 ई. में पटना आया था।

  • मुल्ला बहबहानी ने बिहार के राजमहल, भागलपुर, मुंगेर, पटना और सासाराम आदि शहरों का वर्णन अपने यात्रा वृत्तांत "मिरात-ए-अहवल-ए-जहाँनामा" में किया है।
  • पटना को मुल्ला बहबहानी ने "जयतुल हिन्द" अर्थात "भारत का स्वर्ग" कहा है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. विदेशी यात्रियों का विवरण (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 12 अप्रैल, 2013।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मुल्ला_बहबहानी&oldid=638538" से लिया गया