असितांजन  

Disamb2.jpg असितांजन एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- असितांजन (बहुविकल्पी)

असितांजन घटजातक[1] में वर्णित एक नगर जिसकी स्थिति उत्तरापथ में मानी गई है।

  • असितांजन को कंस[2] की राजधानी माना गया है।
  • कृष्ण ने कंस को मारकर असितांजन पर अधिकार कर लिया था। इसे उत्तर-मधुरा मथुरा से भिन्न माना गया है।
  • असितांजन नामक नगर का अस्तित्व वास्तविक जान पड़ता है।


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कॉवेल सं. 454
  2. वासुदेव कृष्ण का शत्रु
  • ऐतिहासिक स्थानावली | पृष्ठ संख्या= 53| विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार


संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=असितांजन&oldid=627368" से लिया गया